Relationship During Pregnancy in Hindi | गर्भावस्था के दौरान शारीरिक संबंध?

Relationship During Pregnancy in Hindi, गर्भावस्था के दौरान शारीरिक संबंध बनाना “बच्चे या गर्भस्त महिला” के लिए सुरक्षित हैं या नहीं , इससे उनके होने वाले बच्चे को कोई नुकशान तो नहीं पहुचेगा । इस तरह की कई उलझन दंपतियों के मन में बना रहता हैं । हालाँकि कुछ दंपत्ति गर्भावस्था को शारीरिक संबंध के लिए अच्छा समय मानते हैं। वहीं, कुछ अन्य दंपति चिंता और भय की वजह से इसे सही नहीं मानते । दम्पतियो के इस असमंसज को दूर करने के लिए , आज Relationship During Pregnancy in Hindi लेख के माध्यम से हम तमाम उन पहुलओ के बारे में जानेगे जिसके बारे में आपको सम्पूर्ण जानकारी होनी चाहिए ।

Relationship During Pregnancy in Hindi

Relationship During Pregnancy is safe or not in Hindi

क्या गर्भावस्था के दौरान शारीरिक संबंध सुरक्षित हैं, यह सबसे अहम सवाल जो दंपतियों को परेशान करता हैं । जानकारो की मानो तो गर्भावस्था के शुरुवाती और आखिरी दिनों को छोड़कर एक सामान्य परिस्थतिओ में शारीरिक संबंध बिलकुल ही सुरक्षित हैं । लेकिन कुछ खास परिस्थितयो में सावधानी बरतनी चाहिए और अपने डॉक्टर से सलाह-मुशरह जरूर कर लेना चाहिए जैसे की ……

– अपरा का नीचे स्थित होना (प्लेसेंटा प्रेविया), ख़ास तौर पर अगर आपको रक्तस्राव हुआ हो
– अगर प्रिमिच्योर बर्थ या लेबर की समस्या का इतिहास रहा हो
– अगर एक से ज्यादा बच्चा गर्भ में है।
– यदि pregnancy के शुरूआती दिनों में आपको bleeding की problem रही हो तो शायद आपका doctor तब तक शारीरिक संबंध बनाने की सलाह ना दे जब तक pregnant हुए 14 हफ्ते ना बीत जाएं ।
– यदि ग्रीवा कमज़ोर हो
– प्लेजेंटा कमजोर होने पर
– Cervical (सरवाइकल) weakness की समस्या हो
– Placenta (नाल) नीचे की तरफ हो।
– Vaginal किसी प्रकार की infection से ग्रसित हैं
– पेट में दर्द या ऐंठन
– पानी की थैली फटना

इसके अलावा कुछ अन्य असमंजस है जो कई बार गर्भावस्था के दौरान दंपतियों को खासा परेशान करती हैं । जैसे की ……

गर्भावस्था में शारीरिक संबंध के दौरान बरते जाने वाली खास सावधानियॉ

– अपने महिला साथी के इच्छा के विपरीत शारीरिक संबंध बनाने के लिए मजबूर न करे
– ऐशे शारीरिक संबंध बनाने के आसनो से परहेज करे जिसमे महिला साथी सहज न हों
– ऐशे शारीरिक संबंध बनाने के पोजीशन को बिलकुल न आजमाए जिसमे महिला के पेट पर बल पड़े
– अगर आपको गर्भावस्था के दौरान पहली बार जेनिटल हर्पीस हो जाती है, तो इससे गर्भ में बढ़ रहे शिशु के प्रभावित होने का थोड़ा बहुत जोखिम हो सकता है। इसलिए अगर आपके पति को जननांग दाद (जेनिटल हर्पीस) हो रखा हैं तो ऐशे परिस्थिति में शारीरिक संबंध बनाने से बचे
– गर्भावस्था के दौरान अत्यधिक थकान, मिचली ,पेट में ऐठन या बेचैनी होने पर शारीरिक संबंध बनाने से बचे
– अगर शारीरिक संबंध बनाने के दौरान आपकी महिला साथी असहज महसूस कर रही हो तो क्रिया को वही रोक दे

गर्भावस्था के दौरान शारीरिक संबंध बनाने से गर्भपात (miscarriage) हो सकती है ?

कई couples को ऐशी गलतफहमी होती है की गर्भावस्था के दौरान शारीरिक संबंध बनाने से गर्भपात हो सकती है । तो हम आपको यहाँ स्पष्ट करना चाहते हैं की ऐसा होने के chances बिलकुल न के ही बराबर होते है क्योंकि एक गाढ़ा श्लेम डाट (म्यूकस प्लग), जो ग्रीवा को बंद रखता है, वह इसे संक्रमण से बचाने में भी मदद करता है। एमनियोटिक द्रव्य की थैली और गर्भाशय की मजबूत मांसपेशियां आपके शिशु की रक्षा करती हैं।
लेकिन कुछ महिलाओ में ग्रीवा कमज़ोर होने की वजह से miscarriage की संभवना को भी नकारा नहीं जा सकता है । इसलिए अपने चिकित्सक से इस सम्बन्ध में सलाह जरूर ले ले

Sex During Pregnancy in Hindi

Sex During Pregnancy in Hindi

गर्भावस्था के दौरान शारीरिक संबंध बनाने से Premature Delivery की संभावना ?

Premature Delivery का अर्थ शिशु को समय से पहले जन्म देना होता हैं । एक शोध के अनुसार जो महिलाएं गर्भावस्था के दौरान नियमित रूप से शारीरिक संबंध बनाती हैं, उनमें शिशु को समय से पहले जन्म देने की संभावना कम हो सकती है। यह भी कहा जाता है की चरमोत्कर्ष होने से प्रसव से पूर्व जन्म देने की संभावना घट सकती है।

अगर आप शारीरिक संबंध बनाने के मूड में हैं और अच्छा महसूस कर रहीं हैं, तो पूरी गर्भावस्था के दौरान प्रेम संबंध जारी रखना अच्छी बात है। इस समय संतोषजनक प्रेम संबंध आपके रिश्ते के लिए अच्छा है । इसलिए गर्भावस्था के दौरान शारीरिक संबंध बनाने से Premature Delivery की संभावना न के बराबर होते हैं ।

गर्भधारण से जुड़े लेख

संतान और गर्भधारण प्राप्ति के खास उपाय एवं टोटके
गर्भधारण करने के लिए बेस्ट सेक्स पोजीशन
अनचाहे गर्भ से बचने के लिए सेक्स पोजीशन
अनचाहे प्रेगनेंसी, गर्भपात के लिए घरेलू नुस्खे
लड़के और लडकियां हस्थमैथुन कैसे और कब करते है
18+ गर्भावस्था के शुरुआती लक्षण व संकेत
11+ घरेलू प्रेगनेंसी टेस्ट के तरीके
गर्भावस्था में भ्रूण किस प्रकार विकसित होता है
लड़कियों में कब और कैसे शुरू होता है पीरियड
प्रेगनेंसी के दौरान क्या खाना चाहिए
गर्भधारण के दौरान सावधानियॉ

कंडोम का इस्तेमाल जरूरी

कई लोगो के बीच कंडोम केवल अनचाहे गर्भावस्था से बचने का एक सुरक्षित तरीका माना जाता हैं । लेकिन इसके अलावा भी कई परिस्थियों में कंडोम का उपयोग करना एक बेहतर और सुरक्षित विकल्प हो सकता हैं ।
गर्भवस्था के दौरान hormonal changes के कारण स्त्रियो में कई बदलाव देखनो को मिलते हैं उसमे yoni का
इन्फेक्शन भी आम होता हैं । वही पुरुषो में भी कई बार जेनिटल हर्पीस जैसी इन्फेक्शन भी देखनो को मिलती हैं । इसलिए प्रेगनेंसी के दौरान कंडोम का इस्तेमाल जरूर करें। इससे इंफेक्शन का खतरा नहीं रहेगा। इंफेक्शन से बच्चे और दंपति दोनों के स्वास्थ्य पर असर पड़ सकता है ।

हमारे द्वारा प्रकशित इस लेख ” Like & Share “ करना न भूले जिससे की हमारी यह जानकरी ज्यादा से ज्यादा जरूरतमंदों तक पहुँचे । हमारे इस प्रयास में भागीदारी बने धन्यवाद !

कुछ अन्य जरुरी लेख
शीघ्रपतन क्या है
शीघ्रपतन के कारण
30 से भी ज्यादा शीघ्रपतन के घरेलू इलाज
आजीवन रहे निरोग बस अपनाये यह घरेलु नुस्खे
रोग और उसके प्राथमिक उपचार
वज़न कम करने के तरीकेे
डायबिटीज,मधुमेह,ब्लड प्रेशर का घरेलु इलाज

2 comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.