Pre Pregnancy Medical Tests in Hindi | मां बनने से पहले 10 जरुरी मेडिकल टेस्ट


Pre Pregnancy Medical Tests in Hindi, एक स्वस्थ दम्पति ही स्वस्थ बच्चे की कल्पना कर सकते हैं। जैसा की हम सभी जानते हैं बच्चे को जन्म देने में माँ की भूमिका सबसे अहम होती हैं, इसलिए यदि महिला हर तरह से स्वस्थ है तो गर्भधारण करने या डिलिवरी के वक्त दिक्क्तों का सामना कम करना पड़ता हैं। इसलिए जरूरी है कि यदि आप माँ बनने की प्लानिंग कर रही हैं तो पहले डॉक्टर से मिलकर कुछ आवश्यक मेडिकल टेस्ट (Medical Tests before Getting Pregnant) करवा लें। यह टेस्ट निर्धारित करते है कि आपका शरीर माँ बनने के लिए तैयार है या नहीं। इस दौरान डॉक्टर आपकी और आपके पार्टनर की मेडिकल हिस्ट्री चेक करते हैं और उसी के हिसाब से कुछ टेस्ट करवाते हैं और सुनिश्चित करते हैं की सब ठीक हैं ।इस लेख के माध्यम से हम आपको गर्भावस्‍था से पूर्व की जाने वाले कुछ खास परिक्षण (Pre Pregnancy Medical Tests) और देखभाल के बारे में बताने जा रहे हैं




Pre Pregnancy Medical Tests in Hindi

1. सीमेन परीक्षण:- पुरूषों की जांच के लिए सीमेन परीक्षण किया जाता है जिसमें पुरूषों के वीर्य में स्‍पर्म की संख्‍या का पता लगाया जाता है। जिससे पता चलता है कि पुरूष में पिता बनने की क्षमता हैं या नहीं। कई बार बेकार जीवनशैली के कारण, स्‍पर्म काउंट कम हो जाता है।

2. स्मियर टेस्ट:- स्मियर टेस्ट में पूरी जननांगों का परीक्षण किया जाता है, वेजिना, सेरेविक्‍स और पैल्विक की जांच भी इसी के अंतर्गत की जाती है। जिससे किसी भी प्रकार के संक्रमण का पता चल जाता है।

3. पेशाब की जांच:- पेशाब की जांच करने से उच्‍च ब्‍लड सुगर, हाई प्रोटीन और बैक्‍टीरियल संक्रमण का पता लग जाता है। अगर शरीर में ब्‍लड सुगर ज्‍यादा होता है तो आपको शीघ्र ही मधुमेह वाले डॉक्‍टर से सम्‍पर्क करना चाहिए। क्‍योंकि आपको डायबटीज होने के चांस ज्‍यादा हैं।

4. क्रोनिक डिजीज टेस्ट:- इस टेस्ट के जरिये यह पता किया जाता है की महिला डायबिटीज, अस्थमा या उच्च रक्तचाप जैसी बीमारियों से प्रभावित तो नहीं हैं।




5. थॉयराइड टेस्‍ट:- गर्भधारण करने से पहले थॉयराइड टेस्‍ट करवा लें और जान लें कि कहीं आप थॉयराइड की समस्‍या से ग्रसित तो नहीं है। थॉयराइड की समस्‍या होने पर कई बार गर्भपात होने का खतरा भी रहता है। बच्‍चे के मानसिक विकास भी पर थॉयराइड होने पर असर पड़ता है।

6. ब्‍लड़ टेस्‍ट:- हर 6 महीने में ब्‍लड टेस्‍ट करवा लेना चाहिए। इससे आपको ब्‍लड काउंट, प्‍लेटलेट्स और हीमोग्‍लोबिन आदि की जानकारी रहेगी और उस हिसाब से आपको डाइट चार्ट रखना होगा। इससे आपको किसी प्रकार की आनुवांशिक बीमारी; जैसे- स्किेल सेल एनीमिया और साइस्टिक फाइब्रोसिस का भी पता लगाया जा सकता है।

7. एसडीआईएस स्क्रीनिंग टेस्ट (SDIS Screening Test) :- आप किसी सेक्सुअली ट्रांसमिटेड इन्फेक्शन की शिकार तो नहीं है यह देखने के लिए एसडीआईएस स्क्रीनिंग टेस्ट किये जाते हैं। इसमें हेपेटाइटिस बी, क्लमाइडिय, सिफलिस और एच आई वी की जांच की जायेगी।

8. जेनिटल हर्पीस टेस्ट :- यह एक आम और अत्यधिक संक्रामक संक्रमण परीक्षण है यह संक्रमण आमतौर पर हर्पीस सिंप्लेक्स वायरस -2 (एचएसवी -2) या हर्पीज सिम्प्लेक्स वायरस -1 (एचएसवी -1) के कारण होता है, जो आमतौर पर ठंडे घावों के लिए जिम्मेदार वायरस होता है। इसके उपचार में दवाओं का इस्तेमाल होता है जिससे कि घावों को तेजी से ठीक करने और प्रकोपों को रोकने में मदद मिलती है।




9.रूबेला (Rubella) :- रूबेला एक संक्रमित बीमारी है, जिससे कोई गंभीर समस्या नहीं होती लेकिन भ्रूण को इसके होने से हानि हो सकती है। इसके होने पर हल्का बुखार और शरीर पर दाने होते हैं जो चेहरे से होते हुए पूरे शरीर पर फैल जाते हैं। इसके लिए महिला को वैक्सीन दिया जाता है। वैक्सीन देने के एक महीने तक माँ बनने के लिए मनाही होती है। इससे बचने के लिए बचपन में ही एम. एम. आर. का वैक्सीन दिया जाता है।

10.टीकाकरण :- वैक्‍सीन को लगवाने के बाद कई प्रकार की समस्‍याओं से बचा जा सकता है जो कि बच्‍चे के जन्‍म के समय हो सकती हैं।

ज़िंदगी की इस अहम ज़िम्मेदारी को उठाने से पहले ऊपर बताये गए Pre Pregnancy Medical Tests in Hindi अवश्य करा ले ये टेस्‍ट आपके स्‍वास्‍थ्‍य का परीक्षण करते हैं और बताते हैं कि आपके शरीर में किस तत्‍व की कमी है। और समय रहते आप अपने आहार और जीवनशैली में आवश्यक परिवर्तन कर उन कमी को दूर कर पाते हैं

गर्भधारण से जुड़े लेख
संतान और गर्भधारण प्राप्ति के खास उपाय एवं टोटके
गर्भधारण करने के लिए बेस्ट सेक्स पोजीशन
11 घरेलू प्रेगनेंसी टेस्ट के तरीके
18+ गर्भावस्था के शुरुआती लक्षण व संकेत
गर्भावस्था के दौरान यौन संबंध बनाना सुरक्षित हैं या नहीं
प्रेगनेंसी के दौरान क्या खाना चाहिए
गर्भधारण के दौरान सावधानियॉ
लड़के और लडकियां हस्थमैथुन कैसे और कब करते है

Sources By – boldsky.com

One comment

  • Generally majority of us has faith in the pregnancy test done by doctor apart from indications of missed periods. Thanks for sharing new kind of information for newly wedded couples. Hope that this information will be handy with them.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.