Health Insurance Advantage and Disadvantage | स्वास्थ्य बीमा के फायदे और नुकसान


Health Insurance Advantage and Disadvantage | Health Insurance Benefits and Drawback in Hindi, अच्छा स्वास्थय ही सुखी जीवन का आधार है। आजकल की मौजूदा जीवनशैली में प्रतिस्पर्धा, बढ़ता प्रदुषण दर, फ़ास्ट फ़ूड का उपयोग, देर रात तक काम करना, एक आम बात हो गई है। इन्ही कारणों से आजकल ज्यादातर व्यक्ति स्वास्थ्य समस्याओ से जूझ रहे है। यहाँ तक की आजकल एक स्वस्थ व्यक्ति को भी बीमारियों से उतना ही खतरा है जितना की एक अस्वस्थ्य व्यक्ति को। ऐसे परिस्तिथि में बढ़ते अस्पताल के खर्च, लोगो के स्वास्थ्य सम्बंधित चिंताओं को और भी बढ़ा रहा है।



Health Insurance Advantage and Disadvantage in Hindi

एक सही स्वास्थ्य बीमा आपको उपरोक्त समस्याओ से जूझने में काफी मददगार साबित हो सकती है। मामूली प्रीमियम रकम का भुगतान कर के आप खुद और अपने परिवार के लिए काफी बड़ी राशि का कवर पा सकते है। लेकिन कोई भी निष्कर्ष निकालने से पहले हमे उपरोक्त चीजों के बारे में समुचित जानकारी रखनी चाहिए हमारा कहने का तात्पर्य स्वास्थय बीमा व मेडिक्लेम पॉलिसी के लाभ और हानि से है। हम आपको यहां कुछ बिन्दुओ पर प्रकाश डालकर हेल्थ इंश्योरेंस के विभिन्न फायदे और नुकसान के बारे में जानेगे।

स्वास्थ्य बीमा के फायदे | Health Insurance Advantage or Benefits in Hindi

1.कर लाभ :-
स्वास्थ्य बीमा के द्वारा आपको आयकर अधिनियम,1961 के अंतर्गत कर लाभ मिलता है। अनुभाग 80D के तहत स्वास्थ्य बीमा पे दिए गया प्रीमियम राशि, कर कटौती योग्य होता है। ग्राहक को इस सेक्शन के तहत रू 55,000 तक का लाभ मिल सकता है।

2.गंभीर बीमारियों के लिए कवर :-
Health Insurance Advantage की बात करे तो आधुनिक युग में क्रिटिकल इलनेस जैसे स्ट्रोक, कैंसर, किडनी से जुडी गंभीर समस्या आम होती जा रही हैं जिनका इलाज काफी खर्चीला होता हैं। स्वास्थ्य बीमा ऐसे गंभीर बीमारियों के लिए कवर प्रदान करता है।

3.अस्पताल के खर्च से सुरक्षा :-
एक स्वास्थ्य बीमा आपके चिकित्सकीय उपचार पे होने वाले खर्च के प्रति सुरक्षा प्रदान करता है। बीमा कंपनी के उल्लेखित नेटवर्क अस्पतालों की सूचि में से आप कही भी जाके आसानी से नकदीहिन उपचार करा सकते है। बाकी अस्पतालों में आप इलाज़ के बाद, इलाज़ पे किये गए खर्च का दावा कर अपने रकम की भरपाई कर सकते है। इन्ही कारणों से एक स्वास्थ्य बीमा आपके जीवन में अनिश्चितताओ को दूर कर निश्चितता लाता है।

4.सह-भुगतान :-
इस सुविधा के अनुसार, आप हेल्थ इन्शुरन्स लागत को कम कर सकते हैं। मेडिकल इन्शुरन्स प्लान सह-भुगतान विकल्प प्रदान करती है जो फर्म द्वारा वहन करने के लिए स्वैच्छिक deductibles को पूर्व-परिभाषित करता है। इसलिए, दवा की स्थिति में, कुछ राशि ग्राहक द्वारा प्रदत्त होती है और शेष प्रदाता द्वारा प्रदान की जाती है। यह एक हेल्थ इन्शुरन्स पॉलिसी के तहत लागत-साझा करने की आवश्यकता है, जिसमें यह बताया गया है कि संगठन या व्यक्ति कुल स्वीकार्य लागत के एक निश्चित हिस्सेदारी (प्रतिशत में) ले जाएगा। हालांकि, सह-भुगतान विकल्प का इन्शुरन्स राशि पर कोई प्रभाव नहीं पड़ता है।

5.आरोग्यलाभ की सुविधा :-
कुछ स्वास्थ्य बीमाओं के अंतर्गत आपके अस्पताल में भर्ती होने पे हर दिन के लिए एक दैनिक राशि मिलती है। इसके लिए आपको असल में किये गए दैनिक खर्च का कोई ब्योरा रखने की भी कोई जरुरत नहीं है। इस सुविधा के अंतर्गत आपको मिली दैनिक राशि, असल में किया गए खर्च पे निर्भर नहीं होती।




Health Insurance Disadvantage or Drawback in Hindi | स्वस्थ्य बीमा के नुकसान

1.प्रीमियम मूल्य :-
Health Insurance Disadvantage की बात करे तो इसकी प्रीमियम उन लोगों के लिए काफी चुनौतीपूर्ण हो सकता है जिनकी कम आय हो या वह स्व-नियोजित हैं, उनके लिए परिवारों के लिए स्वास्थ्य देखभाल कवरेज एक अतिरिक्त वित्तीय बोझ का कारण हो सकता है। स्वास्थ्य बीमा उन लोगों के लिए भी बहुत महंगा हो सकता है जिनके पास उनके नियोक्ताओं के माध्यम से स्वास्थ्य बीमा योजना है।

2.बढ़ती उम्र के साथ बढ़ता प्रीमियम :-
स्वास्थ्य बीमा में आपका प्रीमियम आपकी उम्र पर निर्भर होता है। इन्ही कारणों से अगर आप स्वास्थ्य बीमा, ज्यादा उम्र में खरीदते है तो आपको सामान्य प्रीमियम से कई ज्यादा प्रीमियम देना पड़ता है। इसलिए वरिष्ठ नागरिको को स्वास्थ्य बीमा खरीदना काफी महंगा साबित होता है।

3.गंभीर स्वास्थ्य के स्थिति में स्वास्थ्य बीमा के आवेदन की अस्वीकृति :-
ज्यादातर स्वास्थ्य बीमाओं में आपको बीमा लेने से पहले चिकित्सा जांच से गुजरना पड़ता है। इससे बीमा कंपनी को आपके स्वास्थ्य की स्थिति पता चल जाती है। पर अगर चिकित्सा जांच में ये पता लग जाए की आपकी स्वास्थ्य की स्थिति बेहद गंभीर है तो बीमा कंपनी आपके स्वास्थ्य बीमा के आवेदन को खारिज भी कर सकते है।

4.दावे के रिकॉर्ड अनुसार प्रीमियम राशि में व्रिद्धि :-
स्वास्थ्य बीमा में आपकी प्रीमियम राशि हमेशा एक सामान्य नहीं होती है। आपके पिछले दावे के रिकॉर्ड अनुसार, बीमा कंपनी आपके प्रीमियम रकम में व्रिद्धि भी कर सकती जिसके कारण आपको प्रारंभिक प्रीमियम राशि से ज्यादा प्रीमियम देना पड़ सकता है।

जरुरी लेख
स्वास्थ्य बीमा क्या है और यह क्यों जरूरी है?
हेल्थ इंश्योरेंस कितने प्रकार होते है
अच्छे हेल्थ इंश्योरेंस का चुनाव कैसे करे?
स्वास्थ्य बीमा के लिए कैसे दावा करें?
पैरालिसिस, लकवा, पक्षाघात के कारण लक्षण और उपाय
हार्ट अटैक के कारण लक्षण और उपाय

Reference From
http://insdeep.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.