How to claim health insurance in Hindi | स्वास्थ्य बीमा दावा व क्‍लेम कैसे करें?


Claim Health Insurance Process in Hindi, जब भी आप या आपके किसी भी परिवार के सदस्यों या आश्रितों को बीमारी या दुर्घटना के कारण अस्पताल में भर्ती कराया जाता है, तब स्वास्थ्य बीमा पर्याप्त वित्तीय कवर प्रदान करता है। पॉलिसीधारक या तो कैशलेस या रिंबर्समेंट मोड के माध्यम से स्वास्थ्य बीमा का दावा कर सकते हैं। कुछ स्थितियो में पॉलिसीधारक को अस्पताल में सभी बकाया राशि का भुगतान करना होता है और फिर बीमा कंपनी के पास दावा प्रस्तुत करना होता है।



How to claim health insurance in Hindi

आप किसी स्वास्थ्य बीमा पॉलिसी का दावा (claim health insurance) तहत दो तरह से कर सकते हैं।

1. मेडिकल सर्विस प्रोवाइडर सीधे इलेक्ट्रॉनिक माध्यम से सीधे बीमा कंपनी से दावा जमा कर सकता है। जब व्यक्ति बिना नकदी निपटान/ कैशलेस हैल्थ प्लान लेता है तो उसे अपनी आई डी कार्ड दिखाना चाहिए जिससे जो तीसरी पार्टी के व्यवस्थापक हों या थर्ड पार्टी एडमिनिस्ट्रेटर हों वह दावा तैयार करने में आपकी मदद कर सके। टी पी ए दावा तैयार करने और गंभीर बीमारी की स्थिति में सही बिल भुगतान में आपकी मदद करता है।

2. यदि आपका स्वास्थ्य सेवा प्रदाता आपके स्वास्थ्य बीमा कंपनी के नेटवर्क में नहीं है और आपकी ओर से दावा नहीं दायर कर सकता, तो आपको प्राप्त स्वास्थ्य सेवाओं के भुगतान के अनुरोध के लिए एक स्वास्थ्य बीमा दावा फ़ॉर्म दर्ज करना होगा। मरीज़ को मुआवज़ें के लिए अस्पताल छोड़ने के 30 दिन के अंदर सभी कागज़ात बीमा कंपनी के सामने प्रस्तु़त कर देने चाहिए ।

Required Documents for Health insurance Claim

बीमा दावा करने के लिए आवश्यक दस्तावेज निम्न हैं :
1. आपके द्वारा विधिवत हस्ताक्षरित दावा फ़ॉर्म।
2. आपके आईडी कार्ड और स्वास्थ्य कार्ड की फोटोकॉपी।
3. आपके पॉलिसी दस्तावेज़ की फोटोकॉपी।
4. मूल अस्पताल के बिल, सभी समेकित मात्रा के लिए, अस्पताल से बिल राशि काविस्तृत विवरण आवश्यक है।
5. बाहर खरीदी गई दवा के लिए, बिल के साथ डॉक्टर से एक डॉक्टर के पर्चे के साथ होना चाहिए।
6. मूल निर्वहन सारांश या कार्ड अस्पताल द्वारा प्रमाणित सभी मूल जांच रिपोर्ट या फोटोकॉपी।




How to make a claim for health insurance?

बीमा के लिए दावा (claim health insurance) करने के लिए आपको कुछ खास बातों का ख्याल रखना होता है :

1. दावेदार द्वारा दावा करने वाला फार्म ठीक प्रकार से भरा जाना चाहिए। यह भी बात ध्यान रखने के लिए ज़रूरी है कि आपका हस्ताक्षर ठीक प्रकार से हुआ हो।
2. अस्पताल से अपने सर्टिफिकेट निकलवा लें। अस्पताल छोड़ने से पहले चिकित्सक से बात करके सभी रिपोर्टों को संभाल को रख लें।
3. अस्पताल छोड़ने से पहले, डिस्चार्ज समरी, जांच रिपोर्ट की प्रति, बिल, प्रेस्क्रिप्शन और फार्मेसी की रसीदें लेना महत्वपूर्ण है।
4. किस प्रकार का आपरेशन हुआ है और कैसी चिकित्सा हो रही है इसके लिए चिकित्सक द्वारा सर्टिफिकेट दिखाना ज़रूरी होता है। इसके साथ ही व्यक्ति को अपना बिल, रसीद और बीमारी के पहचान के कागज़ भी दिखाये जाने चाहिए।
5. दुर्घटना के अलावा किसी भी स्थिति में पुरानी बीमारी का भी दिखाया जाना ज़रूरी है।
6. योजनाबद्ध अस्पताल में भर्ती के मामले में, पॉलिसीधारक आगामी दावे के बारे में बीमा कंपनी को सूचित करता है. आपात स्थिति में अस्पताल में भर्ती के मामले में, दावे की सूचना 24 घंटे के भीतर बीमा कंपनी या टीपीए के पास भेजी जानी चाहिए।
7. पॉलिसीधारक को निर्धारित रिंबर्समेंट क्लेम फॉर्म भरना होता है. कुछ खंड अस्पताल और रोगी का इलाज करने वाले डॉक्टर द्वारा भरे जाने होते हैं. फॉर्म बीमा कंपनी या टीपीए की वेबसाइट से डाउनलोड किया जा सकता है।
8. दावा प्रस्तुत करते समय पॉलिसीधारक के बैंक खाते के विवरण और आईएफएससी के साथ आपको ताजा बैंक अधिदेश प्रस्तुत करना चाहिए. निरस्त चेक जमा करने की अपेक्षा की जा सकती है।
9. पॉलिसी की प्रति, डिस्चार्ज समरी, मेडिकल बिल और जांच रिपोर्ट जैसे दस्तावेजों के साथ क्लेम फॉर्म टीपीए के पास जमा किया जाना चाहिए. दावा डिस्चार्ज के तुरंत बाद प्रस्तुत किया जाना चाहिए।
10. कागजातों की प्राप्ति और जांच के बाद, बीमा कंपनी दावा प्रसंस्करित करने के लिए अन्य दस्तावेजों की मांग कर सकती है, या दावे के परित्याग का कारण सूचित कर सकती है
11. पुराने स्वास्थ्य बीमा कागजात बनाए रखें, क्योंकि रिंबर्समेंट क्लेम करते समय इन की प्रतियों की आवश्यकता हो सकती है। पॉलिसीधारक को अपना मेडिकल रिकॉर्ड बनाए रखने के लिए सभी क्लेम फॉर्मों की प्रतियां रखनी चाहिए।
12. अगर आपके बीमा की योजना में वो बीमारी नहीं कवर है जो आपको हुई है तो ऐसा भी हो सकता है कि कुछ स्थितियों में आपके दावे को “ना” माना जाये। लेकिन अगर आपके दावे को नहीं माना जा रहा है तो आप ध्यान रखें कि आप अपनी बीमा कंपनी में 15 दिन के अंदर शिकायत दर्ज करें। आंशिक भुगतान के लिए आपको अपने टी पी ए से सम्पर्क करना चाहिए।

अन्य जरुरी लेख

स्वास्थ्य बीमा क्या है और यह क्यों जरूरी है?
स्वास्थ्य बीमा के फायदे और नुकसान
अच्छे हेल्थ इंश्योरेंस का चुनाव कैसे करे?
स्वास्थ्य बीमा कितने प्रकार के होते है?
पैरालिसिस, लकवा, पक्षाघात के कारण लक्षण और उपाय
हार्ट अटैक के कारण लक्षण और उपाय

Reference From
economictimes.indiatimes.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.