Anda khana sahi hai ya Galat | अंडा खाने से फायदा होता है या नुकसान?


Anda khana sahi hai ya Galat, अण्डा का आकार गोल व अण्डाकार होता है जो कहे तो एक जीवित वस्तु है जो बहुत से प्राणियों के मादा द्वारा पैदा की जाती है । एक जुमला जिसे शायद आपने भी सुना होगा “संडे हो या मंडे रोज़ खाये अंडे” । इस जुमला से तो मानो ऐसा लगता है जैसे अंडा ऐसा स्वास्थ्यवर्धक चीज है जिसे हमे अपने खान पान में शामिल करना अत्यंत ही आवश्यक है । इस जुमले पर कुछ भी टिप्पणी करने से पहले अंडे से जुड़े कुछ महत्वपूर्ण तथ्य के बारे में हम जान लेते है ।



Anda khana sahi hai ya Galat

अंडो से जुड़े तथ्य के बारे में अगर बात करे तो, अंडा मादा जीवो के मासिक धर्म का रक्त होता है। यदि उन्हें सेया जाए, तो उनसे नर या मादा जीव की उत्पत्ति होती है। महिलाओ की तरह जीवो में भी अंडोत्सर्जन एक चक्र के रूप में होता है फर्क बस इतना है की वह तरल रूप में ना हो कर ठोस (अण्डे) के रूप में बाहर आता है सीधे तौर पर अगर कहा जाए तो अंडा मादा जीवो की माहवारी या मासिक धर्म है जो की मादा हार्मोन (estrogen) से भरपूर है । अंडा का संरचना दो परतो में होती है । इसके ऊपरी परत ठोस सफेद, चित्तीदार और रंगीन होता है और अंदर के हिस्से में पीले रंग का गाढ़ा पदार्थ होता है अंडो के निशेचन के उपरान्त यह पदार्थ विकशित होकर बच्चा व चूजा बन जाता है।

अंडा शाकाहारी है या मांसाहारी । Egg is Vegetarian or Non Vegetarian?

Anda khana sahi hai ya Galat, अमूमन तो अंडा को मांसाहारी मानने वाले की संख्या ज्यादा है लेकिन समाज का एक बहुत बड़ा तबका इसे शाकाहारी आहार मानकर खा रहे है हाल फिलहाल में जब विज्ञापनो में मैंने अंडा को शाकाहारी होने की बात पढ़ी , तो इस अदभुत विज्ञापन के पीछे का सच जानने के उद्देस्य से काफी जांच परताल की । अंडे को शाकाहारी कहने वाली पोल्ट्रियाँ मुरगियों को प्राकृतिक दाने और आहार खाने को देते है । और अंडे की पैकेजिंग रिसाइकिल की गई प्लास्टिक की थैलियों में करते है। लेकिन सवाल यह है कि ऐसा करने से क्या अंडा पूर्ण रूप से शाकाहारी कहलाना उचित है ?
अंडा को शाकाहारी के श्रेणी में रखने वाले कुछ लोगो का तर्क यह भी है की अंडे दो प्रकार के होते हैं, जिनसे जीव पैदा हो सके और जिनसे नहीं हो सके। चूँकि अंडे को शाकाहारी कहने वाले अंडा व्यपारी बच्चे पैदा न कर सकने वाले अंडों का उत्पादन करते है। इसलिए उनका तर्क है की ऐसे अंडे पूर्ण रूप से शाकाहारी हैं।

लेकिन Anda khana sahi hai ya Galat, वास्तिवकता बिलकुल परे है सभी अंडो में जीव निहित है सभी में बच्चे पैदा करने की क्षमता होती है । निशेचन प्रक्रिया के बाद ही सभी अंडो से बच्चे निकाले जा सकते है चूकि इन प्रक्रिया में समय लगता है । लेकिन अंडा वव्शायी तत्काल अंडों को बेच देते हैं और हम मान लेते है की जिन अंडो का हम सेवन कर रहे है वो पूर्ण रूप से शाकाहारी है ।




अंडा खाने के नुकसान । Anda khane ke Nuksan | Egg side effect

➥ अंडो के अधिक से अधिक उत्पादन के लिए निषेधित ड्रग ओक्सिटोसिन(oxytocin) का इंजेक्शन लगाया जा रहा है जिससे के मुर्गियाँ लगातार अनिषेचित (unfertilized) अण्डे देती है इनको खाने से पुरुषों और स्त्रियों में हार्मोन (estrogen) असंतुलन की वजह से कई समस्या उत्पन्न होने का डर बना रहता है जैसे के वीर्य में शुक्राणुओ की कमी (oligozoospermia, azoospermia) , नपुंसकता और स्तनों का आवश्यकता से ज्यादा विकास (gynecomastia), डिप्रेशन आदि …
वहीँ स्त्रियों में अनियमित मासिक, बन्ध्यत्व , (PCO poly cystic oveary) गर्भाशय कैंसर आदि रोग होने का भय होता है

➥ आजकल पॉलिटरी फार्मो में अंडा का उत्पादन बढ़ाने के एक विशेष प्रकार के हार्मोन्स का प्रयोग किया जाता हैं जिसमे स्टील बेस्टेरोल नामक दवा महत्त्वपूर्ण है। इससे जनित मुर्गी के अंडे खाने से हाई ब्लडप्रैशर, कैंसर, खासकर स्त्रियों को स्तन का कैंसर पीलिया जैसे रोग होने की सम्भावना रहती है।

➥ साल्मोनेला एक बैक्टीरिया है जो कि मुर्गियों की आंतों में पाया जाता है। यह अंडे के बाहरी आवरण और उसके अंदर भी पाये जाते हैं । जिससे फूड प्वांजनिंग , सूजन, उल्टी व पेट की अन्य समस्या हो सकती है।

➥ नियमित रूप से अंडे के ऊपर का सफ़ेद हिस्सा खाने से शरीर में बायोटीन की कमी होती है । बायोटीन की कमी से मांसपेशियों में दर्द, जकरन ,शरीर में तालमेल की कमी ,त्वचा संबंधी बीमारी जैसी स्वास्थ्य समस्याएँ पैदा होना का खतरा बढ़ जाता है ।

➥ नियमित रूप से अंडे का पीला वाला हिस्सा खाने से शरीर में कोलोस्ट्रोल की मात्रा बढ़ सकती है जो की हाई ब्लड प्रेशर, डाइबिटीज़ व हृदय संबंधी रोगियो के लिए जानलेवा साबित हो सकता है ।

➥ जिन लोगों का ग्लोमरगुलर फिल्टरेशन रेट (फ़्लो रेट जो किडनी फिल्टर कर पाती है) कम है उन्हें खास तौर पर अंडे के प्रोटीन से खतरा है।
➥ अन्डो को खाना धर्म और शास्त्रों के विरुद्ध , अप्राकृतिक माना जाता है क्योंकी जीव हत्या करना हमारे सभ्यता और संस्कृति के खिलाफ है ।

इस लेख का यह कतई उद्देशय नहीं है की आप अंडा का परित्याग कर दो । अगर आप इसे संतुलित तरीके से ले रहे हो तो यह कई मायने में फायदेमंद भी साबित हो सकता है इसलिए आप अंडा तो खा सकते है पर जरा संभलकर इसके अच्छे बुरे प्रभावों के बारे उचित जानकारी ले कर ही उपयोग में लाये ।

अंडा खाने के फायदे । Egg Benefit in Hindi

➥ अंडे में कुछ महत्वपूर्ण पोषक तत्व पाये जाते है जो की है प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट, वसा, राइबोफ्लेविन, कोलिन, सेलेनियम, आयरन आदि जिनका की हमारे शरीर के विकास में महत्वपूर्ण योगदान है ।

➥ वजन घटाने और बढ़ाने में मदद करता है , अंडे में पाए जाने वाले प्रोटीन की पाचन प्रक्रिया अन्य प्रोटीनों के मुकाबले थोड़ी धीमी होती है। इसलिए अंडा खाने के काफी देर बाद तक पेट भरे रहने का एहसास रहता है। ऐसे में व्यक्ति ज्यादा खाने से बचता है और डाइट कम हो जाती है।
अच्छा कैलोरी और प्रोटीन का स्रोत होने के कारण इसका उपयोग वजन बढ़ाने में भी लाभप्रद होता है

बालो के लिए फायदेमंद :- अंडे में मौजूद प्रोटीन की मात्रा और लेसिथिन तत्व बालों के फॉलिकल्स को मजबूत बनाने का काम करते हैं। ये उनका टूटना कम कर उनके विकास में सहायक पोषक तत्व प्रदान करते है ।

➥ अंडे की जर्दी में जिन्क, विटामिन ए,बी,डी, आयरन, ल्यूटीन पाया जाता है जो हड्डियों को मजबूत बनाता है साथ ही शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाता है।

हमारे द्वारा प्रकशित इस लेख ” Like & Share “ करना न भूले जिससे की हमारी यह जानकरी ज्यादा से ज्यादा जरूरतमंदों तक पहुँचे । हमारे इस प्रयास में भागीदारी बने धन्यवाद !

गर्भधारण से जुड़े लेख

संतान और गर्भधारण प्राप्ति के खास उपाय एवं टोटके
गर्भावस्था के दौरान सोने का सही तरीका
18+ गर्भावस्था के शुरुआती लक्षण व संकेत
11+ घरेलू प्रेगनेंसी टेस्ट के तरीके
गर्भावस्था के दौरान यौन संबंध बनाना सुरक्षित हैं या नहीं
गर्भावस्था में भ्रूण किस प्रकार विकसित होता है
लड़कियों में कब और कैसे शुरू होता है पीरियड
गर्भधारण के दौरान सावधानियॉ
प्रेगनेंसी में क्या खाना चाहिए

शीघ्रपतन से जुड़े लेख

शीघ्रपतन क्या है
शीघ्रपतन के कारण
शीघ्रपतन होने के लक्षण व संकेत
30 से भी ज्यादा शीघ्रपतन के घरेलू इलाज

3 comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.