Menstruation Cycle (MC) Details in Hindi – लड़कियों में कब और कैसे शुरू होता है पीरियड


Menstruation Cycle (MC) Details in Hindi, पीरियड जिसे आम बोल चाल के भाषा में माहवारी और मासिक-धर्म के नाम से भी जानते है | ईश्वर के द्वारा पुरुष और स्त्रियो में कई विषमताएं बनायीं गयी है इन्हीं विषमताओं में से एक हैं स्त्रियों में मासिक-धर्म ।
हमारे समाज में कई लोगो को यह जानने की खासी उत्सुकता रहती है की लड़कियों में मासिक धर्म कब और कैसे शुरू होता है । आज हम माहवारी से जुड़े ऐशे कई अनसुलझे सवालो के जवाब बताने जा रहे हैं जिनके बारे में आपको पहले से नहीं पता होगा ।

Menstruation Cycle (MC) Details in Hindi



मासिकधर्म (अथवा माहवारी) पीरियड क्‍या है? | What is MC in Hindi

Menstruation Cycle महिलाओ में होने वाली सामान्य शारीरिक गतिविधि है । महिलाओं को भी माहवारी के दौरान खुद अपने शरीर को समझने में परेशानी आती है । जब कोई लड़की पैदा होती है, तो उसके अण्‍डाशयों में पहले से लाखों अपरिपक्‍व अण्‍डाणु मौजूद होते हैं। जवान होने पर, उनमें से दसियों अण्‍डे महीने में एक बार हार्मोन उत्तेजित (हार्मोनल स्टिमुलेशन) होने की वजह से विकसित होने शुरू हो जाते है । महिलाओं के शरीर में चक्रीय (साइक्लिकल) हार्मोस में होने वाले बदलावों की वज़ह से गर्भाशय से नियमित तौर पर ख़ून और अंदरुनी हिस्से से स्राव होना मासिकधर्म (अथवा माहवारी) कहलाता है । आमतौर पर, प्रत्‍येक चक्र के दौरान अण्‍डाशय में केवल एक ही अण्‍डा परिपक्‍व होता है और गर्भाशय में छोड़ा जाता है (जिसे अण्‍डोत्‍सर्ग कहा जाता है) उसी समय, गर्भावस्‍था की तैयारी में गर्भाशय का भीतरी हिस्सा मोटा होना शुरू हो जाता है। यदि यह अण्‍डाणु निषेचित नहीं होता, तो यह गर्भाशय के भीतरी हिस्से के अतिरिक्‍त ऊतकों के साथ माहवारी ख़ून के रूप में योनि से निकलना शुरू हो जाता है। इसके बाद अगला माहवारी चक्र फिर से शुरू हो जाता है ।

menstruation cycle in Hindi | माहवारी किस उम्र में शुरू और बंद हो जाती है?

Menstruation Cycle Start and End Age in Hindi, माहवारी शुरू होने और बंद होने का कोई निश्चित उम्र शीमा नहीं है । यह स्त्री विशेष में क्षेत्रीय वातावरण और रहन सहन के आधार पर अलग-अलग हो सकती है । अमूमन माहवारी के शुरू होने की जो सामान्य समय शीमा है वह 11-12 वर्ष है। अधिकतर महिलाओं की प्राकृतिक रज्‍जोनिवृत्ति यानि की माहवारी बंद 45-55 वर्ष की आयु में हो जाती है। इस आयु में, माहवारी आना हमेशा के लिए बंद हो जाती है (रज्‍जोनिवृत्ति हो जाती है) और इसके बाद महिलाएं बच्‍चे पैदा करने में सक्षम नहीं रहती।

मासिक धर्म की अनियमितता | menstruation cycle irregular reason in hindi

जी नहीं, सभी महिलाओं को प्रत्‍येक महीने माहवारी नहीं आती । जिन लड़कियों की माहवारी हाल ही में शुरू हुई और जो महिलाएं रज्‍जोनिवृत्ति की आयु पर पहुंचने वाली हैं, उनको अनियमित माहवारी आ सकती है । किसी महिला का चक्र उसकी स्थितिके अनुसार अलग-अलग हो सकता है
एक माहवारी चक्र 21-35 दिनों का हो सकता है। चक्र की अवधि से तात्‍पर्य है, माहवारी आने के पहले दिन से लेकर अगली माहवारी आने के पहले दिन तक की अवधि
उदाहरण के लिए:
पिछली माहवारी का पहला दिन: 1 January
मौजूदा माहवारी का पहला दिन: 29 January
चक्र की अवधि: 28 दिन



कुछ परिस्थितियों की वजह से माहवारी अनियमित हो सकती है। इनमें शामिल है:

✪ स्‍थाई (क्रॉनिक) बीमारियां होना, हार्मोन संबंधी विकार होना (उदाहरण के लिए पॉलिसि‍स्टिक ओवरी सिंड्रम, थायराइड बीमारी आदि)
✪ गर्भाशय के अंदरुनी हिस्से विकार, पौलिप्स, सरविक्स अथवा योनि के संक्रमण, अथवा योनि के कैंसर आदि की वजह से दो माहवारियों के बीच में योनि‍ से रक्‍त-स्राव हो सकता है। इसकी वजह से ‘अनियमित माहवारी’ आने का भ्रम हो सकता है
✪ वज़न सामान्‍य से अधिक अथवा कम होना
✪ खान-पान संबंधी विकार होना (उदाहरण के लिए एनोरेक्सिया नर्वोसा होना)
✪ बहुत अधिक कसरत करना
✪ तनाव होना
✪ कुछ दवाएं लेना (उदाहरण के लिए गर्भनिरोधक इंजेक्‍शन लेना)
✪ मादक पदार्थों का सेवन करना
✪ स्‍तनपान कराना

गर्भधारण से जुड़े लेख
संतान और गर्भधारण प्राप्ति के खास उपाय एवं टोटके
गर्भधारण करने के लिए बेस्ट सेक्स पोजीशन
अनचाहे गर्भ से बचने के लिए सेक्स पोजीशन
अनचाहे प्रेगनेंसी, गर्भपात के लिए घरेलू नुस्खे
लड़के और लडकियां हस्थमैथुन कैसे और कब करते है
18+ गर्भावस्था के शुरुआती लक्षण व संकेत
11+ घरेलू प्रेगनेंसी टेस्ट के तरीके
गर्भावस्था के दौरान यौन संबंध बनाना सुरक्षित हैं या नहीं
गर्भावस्था में भ्रूण किस प्रकार विकसित होता है
प्रेगनेंसी के दौरान क्या खाना चाहिए
गर्भधारण के दौरान सावधानियॉ

पीरियड प्रत्येक 28 दिनों पर आना जरुरी है ?

माहवारी का चक्र महिला-महिला पर निर्भर करता है । समान्यतः माहवारी का चक्र 20 दिनों से लेकर 35 दिनों के बीच हो सकता है। माहवारी आने में थोड़ी देरी हो जाए तो इसका मतलब यह नहीं की आप गर्भवती हैं। यदि आपका पीरियड तय समय से थोड़ा देरी से आता है तो इसे लेकर आपको घबड़ाने की जरूरत नहीं है।

माहवारी का दर्द क्‍या है? | Reason for Menstruation Pain in Hindi

माहवारी का दर्द आमतौर पर माहवारी शुरू होने के कुछ समय पहले अथवा माहवारी शुरू होने पर होता है। आमतौर पर पेट के निचले हिस्‍से में हल्‍के से लेकर तेज़ पेट दर्द महसूस होता है । दर्द की वजह से पेट में गड़बड़ी हो सकती है, जैसे कि उल्‍टी आना अथवा पतला मलत्‍याग करना आमतौर पर भारी रक्‍तस्राव होने की स्थिति में तेज़ दर्द होता है ।

माहवारी का दर्द के प्रकार | Types of Menstruation Pain in Hindi

माहवारी का दर्द 2 प्रकार का होता है:

किसी चिकित्‍सीय अवस्‍था की वजह से न होने वाला दर्द किसी अंतर्निहित अवस्‍था की वजह से होने वाला दर्द
यह आमतौर पर युवा महिलाओं में माहवारी आना शुरू होने के थोड़े समय बाद होता है यह एन्‍डोमेट्रिऑसिस, पेडू के संक्रमण, इंट्रायूट्रिन गर्भनिरोधक डिवाइस आदि के प्रयोग की वजह से हो सकता है
महिला के बड़े होने पर अ‍थवा बच्‍चे को जन्‍म देने पर यह दर्द कम हो सकता है अथवा समाप्‍त भी हो सकता है यह दर्द मासिक चक्र के दौरान कभी भी शुरू हो सकता है
यह 1-3 दिन तक चलता है इसकी वजह से योनि से होने वाले ख़ून से बदबू आ सकती है अथवा बुखार हो सकता है
गर्म सेक करने अथवा सामान्‍य दर्दनिवारक दवा लेने से दर्द से राहत मिल जाती है संभोग के दौरान दर्द महसूस हो सकता है
जो महिलाएं नियमित तौर पर कसरत करती हैं, उन्‍हें आमतौर पर कम दर्द होता है सामान्‍य दर्दनिवारक दवाएं लेने से दर्द में राहत नहीं भी मिल सकती

मासिकधर्म (अथवा माहवारी) पीरियड के लक्षण | Menstruation Cycle symptoms in hindi

यदि आपको निम्‍नलिखित में से कोई लक्षण दिखाई दे, तो अपने डॉक्‍टर से संपर्क करें:
✪ आपकी आयु 16 वर्ष हो चुकी हो और आपको माहवारी आनी शुरू नहीं हुई है
✪ आपकी माहवारी अचानक से अनियमित हो गई है
✪ दो माहवारियों के बीच में योनि से रक्‍तस्राव होना
✪ संभोग के बाद योनि से ख़ून निकलना
✪ आपको माहवारी आना बंद हुए एक साल होने के बाद योनि से ख़ून निकलना
✪ 40 वर्ष की आयु में अथवा इसके बाद माहवारी के दौरान दर्द होना शुरू होना
✪ मासिक चक्र 21 दिन से कम अवधि का होना
✪ बहुत अधिक माहवारी आना (प्रश्‍न 4 देखें)
✪ माहवारी के दौरान तेज़ दर्द होना / पेट दर्द होना
✪ आपकी आयु 45 वर्ष से कम है और आपको एक वर्ष से माहवारी नहीं हुई है

माहवारी के समय आप गर्भधारण नहीं कर सकतीं?

यह धारणा बिल्कुल गलत है । आप Menstruation Cycle के समय भी गर्भधारण कर सकती हैं। उन महिलाओं का जिनका महावारी चक्र 28 दिनों से कम होता है, उन्हें गर्भधारण की संभावना अधिक होती है।

माहवारी के समय सेक्स नहीं करना चाहिए?

ज्यादातर लोग माहवारी के समय अपने पार्टनर के साथ सेक्स करना पसंद नहीं करते । लेकिन सुरक्षित तरीके से सावधानी पूर्वक माहवारी के समय सेक्स करने से आपको ऐंठन/मरोड़ से आराम मिलता है। शोध के मुताबिक माहवारी के समय सेक्स करने से दर्द में कमी आती है।

कॉटन का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए?

कई लोगों का मानना है कि कुंवारी लड़कियों को कॉटन का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। भ्रांति यह भी है कि यदि कोई कुंवारी कॉटन का इस्तेमाल करती है तो उसका कौमार्य नष्ट हो जाता है। लेकिन वर्जिन उसे माना जाता है जिसने यौन शुचिता खोई न हो। तो ऐसे में कॉटन के इस्तेमाल और वर्जिनिटी खोने में कोई संबंध नहीं है।

हमारे द्वारा प्रकशित इस लेख ” Like & Share “ करना न भूले जिससे की हमारी यह जानकरी ज्यादा से ज्यादा जरूरतमंदों तक पहुँचे । हमारे इस प्रयास में भागीदारी बने धन्यवाद !

कुछ अन्य जरुरी लेख
शीघ्रपतन क्या है
शीघ्रपतन के कारण
30 से भी ज्यादा शीघ्रपतन के घरेलू इलाज
आजीवन रहे निरोग बस अपनाये यह घरेलु नुस्खे
रोग और उसके प्राथमिक उपचार
वज़न कम करने के तरीकेे
डायबिटीज,मधुमेह,ब्लड प्रेशर का घरेलु इलाज




संबंधित लेख

9 comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *