Masturbation Details in Hindi | लड़के और लडकियां हस्थमैथुन कैसे करते है

Masturbation Details in Hindi, हस्तमैथुन स्वास्थ्य से जुड़ा एक ऐसा विषय हैं । जिसके बारे में जानने की उत्सुकता तो सबकी होती हैं । लेकिन कोई भी इस संदर्भ में खुलकर चर्चा नहीं करना चाहता । जिसकी वजह से लोगो को हस्‍तमैथुन से शरीर पर पड़ने वाले प्रभाव के बारे में विस्तृत जानकारी नहीं मिल पाती हैं । हस्तमैथुन की आवृत्ति कई कारकों पर निर्भर करती है मसलन यौन तनाव की प्रतिरोध क्षमता, यौन उत्तेजना को प्रभावी करने वाले हार्मोन का स्तर, यौन आदतें, उत्तेजना का प्रभाव, संगत तथा संस्कृति का असर, चिकित्सा कारण इनमे शामिल है । औशतन पुरुष 12-13 वर्ष की उम्र में ही हस्तमैथुन शुरू कर देते हैं जबकि महिलाएँ तरुणाई (13 से 19 वर्ष) के अन्तिम दौर में हस्तमैथुन का आनन्द लेना शुरू करती हैं लेकिन आज के बदलते समाज में चाइल्ड सेक्सुअल्टी पर अध्ययन करने वाले दल ने अपने सर्वे में बताया कि कई बच्चे काफी कम उम्र में ही हस्तमैथुन करना शुरू कर देते हैं भले ही इस उम्र में उनमें स्खलन नहीं होता है जो की एक गंभीर समस्या हैं । इसलिए हमारा यह मानना है की ऐशे विषयो पर हमारे समाज में खुल कर चर्चा होनी चाहिए ।

Masturbation Details in Hindi

महिलाएं पुरुषों की तुलना में हस्तमैथुन को कम तरजीह देती वजाय विपरीत सेक्स करने के. इसके अलावा वे लोग जो यौन रिश्तों में सक्रिय नहीं है वे हस्तमैथुन ज्यादा करते है. जो लोग सेक्स कर रहे होते हैं उनके द्वारा हस्तमैथुन की आवृत्ति कम हो जाती है. वहीं जो लोग समलैंगिक होते हैं उनके द्वारा हस्तमैथुन क्रिया ज्यादा की जाती है । आज हम इस लेख के माध्यम से हस्तमैथुन से जुड़े हर एक पहलू जैसे की हस्तमैथुन क्या है, लड़के और लडकियां हस्थमैथुन कैसे करते है, परस्पर हस्थमैथुन क्या हैं, जैसे अहम विषयो के बारे में विस्तार से जानेगे ।

Masturbation in Hindi | हस्तमैथुन क्या हैं ?

हस्तमैथुन (masturbation) शब्द की व्युत्पत्ति लैटिन शब्द manu stuprare (हाथ के साथ अशुद्धि) से मानी जाती है । हस्तमैथुन दो शब्द हस्त+मैथुन से मिलकर बना हुआ पूर्ण शब्द हैं । अगर इन दोनों शब्दो के अलग-अलग अर्थ निकाले जाए तो हस्त का अर्थ हाथ तथा मैथुन का अर्थ यौन क्रिया होता हैं यानि की यौन संतुष्टि के लिए पुरुष और स्त्रियों के द्वारा अपने जननांगों/गुप्तांगो के साथ छेड़छाड़ करके अथवा स्वयं उत्तेजित करके कामोन्माद की चरमसीमा को अनुभव करने की प्रक्रिया को हस्तमैथुन कहते है ।

लड़कियाँ हस्थमैथुन कैसे करती हैं । How girl masturbate organ in Hindi?

लड़कियाँ Masturbation कई तरीके से कर सकती हैं जैसे की …….
1. लड़कियाँ हस्तमैथुन के लिये सामान्य तौर पर अपनी योनि या भग क्षेत्र को सहलाकर, रगड़कर या फिर थपथपा करके हस्थमैथुन का आनंद लेती हैं इसके लिये ज्यादतर वे अपनी भगशिश्निका या फिर योनि का उपयोग करती है
2. बहुत सी लड़कियाँ इसके साथ साथ अपने वक्षों/स्तनों को भी रगड़ती हैं।
3. कुछ लड़कियाँ हस्थमैथुन के दौरान गुदा को भी उत्तेजित करती हैं।
4. अधिकतर लड़कियाँ अपने भगोष्ट/जी स्पाट को अपनी तर्जनी या मध्यमा अँगुली से हिलाती हैं । कई बार एक या दो से ज्यादा अँगुलियाँ को डालकर भी लड़कियाँ हस्थमैथुन का आनंद लेती हैं
5. अंगुलियो के अलावा लड़कियाँ योनि को उत्तेजित करने के लिए सेक्स टॉयज जैसे वाइब्रेटर,डिल्डो या बेन वा गेंदों का इस्तेमाल भी करती हैं ।
6. कुछ लड़कियाँ कुछ खास तरीके के फल और सब्जियों (जैसे की लम्बे वाले बैंगन, खीरा, गाजर, मूली, ककडी आदि ) अपने जननांग में प्रविष्‍ठ करके हस्थमैथुन का आनंद लेती हैं ।
7. कुछ लड़कियाँ हस्थमैथुन के आनंद को अधिक करने के लिए कृत्रिम चिकनाई का प्रयोग भी करती है ।
8. हस्तमैथुन क्रिया, लड़कियाँ क्रिया बैठे-बैठे टांगे फैलाकर, लेटे हुए टांगे खोल कर या उठा कर, खड़े होकर, या फिर खुली टांगों के साथ घुटने के बल बैठकर संपादित की जा सकती है.

लड़के हस्थमैथुन कैसे करते हैं । How boy masturbate penis in Hindi?

लड़कियों की तरह लड़के भी यौन संतुष्टि के लिए Masturbation का सहारा कई तरीके से लेते हैं जैसे की ………
1. लड़के हस्थमैथुन के लिए अपने शिश्न या लिंग को अपनी मुट्ठी में दबाकर या अपनी अँगुलियाँ से पकड़ कर उत्तेजना महसूस होने पर गति और दबाव को बढ़ा कर घटा कर अथवा शिश्न के ऊपर की त्वचा को आगे-पीछे हिलाकर कामोन्माद की चरमसीमा को अनुभव करते है
2. हस्थमैथुन के लिए लड़के कभी-कभी वे लिंगमुण्ड पर अतिरिक्त चिकनाई का भी इस्तेमाल करते है
3. पूर्ण यौन संतुष्टि के लिए ये कार्य वे तब तक जारी रखते हैं जब तक उनका वीर्यपात या वीर्य स्खलन नहीं हो जाता।
4. इसके अतिरिक्त पुरुष तकिये के बीच में अपना लिंग दबा कर धीरे-धीरे आगे पीछे धक्का देते हुए इस तरह हिलाते हैं मानो वे किसी स्त्री की योनि में अपना पुरुषांग प्रविष्ठ कर रहे हों।
5. लड़कियों की तरह पुरुष भी सेक्स टॉयज जैसे नकली महिला जननांग जो सॉफ्ट फाइवर के बने होते हैं और महिला जननांग जैसा ही अनुभव देते हैं। कुछ पुरुषों द्वारा इस प्रकार के उपाय भी स्वयं की यौन-सन्तुष्टि हेतु किये जाते हैं।
6. कुछ पुरुष अतरिक्त उत्तेजना के लिए जांघों या पेट सहलाने, अपने निप्पल्स को दबाना, अपने गुदा में ऊँगली भीतर बाहर करने जैसी गतितिविधी को भी अंजाम देते हैं ।
7. कई पुरुष हस्थमैथुन के रोमांच को बढ़ाने के लिए ठंडी चीजे जैसे टूथपेस्ट, सेविंग क्रीम इत्यादि तक का भी इस्तेमाल करते है
8. हस्थमैथुन की क्रिया को पुरुष खड़े होकर, बैठ कर, लेट कर कर सकते है.

परस्पर हस्तमैथुन किसे और कैसे करते हैं । Mutual Masturbation in Hindi?

जब दो या दो से ज्यादा समान या विपरीत लिंग के लोग आपसी सहमती या असहमति से एक दूसरे को हाथों द्वारा या अन्य किसी तरीके से ऑर्गेजम यानि यौन सुख प्रदान करते है तो उसे परस्पर हस्तमैथुन कहते है ।इस क्रिया में स्त्री-पुरूष दोनो एक दूसरे को यौन सुख देने हेतु एक दूसरे का हस्तमैथुन करते है. यह क्रिया उपर दिये गए तरीके या फिर किसी अन्य तरीकों द्वारा अलग- अलग पसंदीदा पोजीशनों में की जा सकती है.

हमारे द्वारा प्रकशित इस लेख ” Like & Share “ करना न भूले जिससे की हमारी यह जानकरी ज्यादा से ज्यादा जरूरतमंदों तक पहुँचे । हमारे इस प्रयास में भागीदारी बने धन्यवाद !

गर्भधारण से जुड़े लेख

18+ गर्भावस्था के शुरुआती लक्षण व संकेत
11+ घरेलू प्रेगनेंसी टेस्ट के तरीके
गर्भावस्था के दौरान यौन संबंध बनाना सुरक्षित हैं या नहीं
गर्भावस्था में भ्रूण किस प्रकार विकसित होता है
लड़कियों में कब और कैसे शुरू होता है पीरियड
गर्भधारण के दौरान सावधानियॉ
प्रेगनेंसी में क्या खाना चाहिए

शीघ्रपतन से जुड़े लेख

शीघ्रपतन क्या है
शीघ्रपतन के कारण
शीघ्रपतन होने के लक्षण व संकेत
30 से भी ज्यादा शीघ्रपतन के घरेलू इलाज

One comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.