How to get pregnant in Hindi | गर्भधारण करने का सही तरीका



How to get pregnant in Hindi | How to get Pregnant fast in Hindi ” How to “ से related search keyword में भारत में खोजे जाने वाली नम्बर वन query में से एक है । बावजूद इसके इस topic पर अच्छे लेखो का काफी अभाव है । इसकी एक बड़ी वजह यह है कि हमारे समाज में Sex और उससे संबधित बातों के बारे में बोलना-सुनना सही नहीं माना जाता है और सही जानकारी के अभाव के कारण आज भी लोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है ।
Healthnuskhe.com ,Health से जुड़े ऐसे सभी समस्याओ का सही और समुचित जानकारी देने के लिए प्रतिबद्ध है इसलिए हम अपने इस Blog के माध्यम से ”How to get pregnant in Hindi ” प्रकाशित कर रहे है , ताकि गर्भावस्था, प्रेगनेंसी और गर्भधारण से जुड़े सभी topics (सभी धारण और अवधारणओ) पर हमारे पाठकगण को internet पे एक अच्छा लेख पढने को मिल सके ।

How to get pregnant in Hindi

माँ और बाप बनना एक इंसान के लिए अध्भुत वरदान से कम नहीं होता है यह उनके जीवन का सबसे सुखद एहसास होता है, एक इंसान तब तक अधूरा माना जाता है जब तक उनको संतान की सुख प्राप्ती न हो जाये । लेकिन कई बार हमारी छोटी मोटी गल्तियो के कारण गर्भधारण करने में काफी कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है । तो आइए इस लेख के माध्यम से हम गर्भधारण करने के विधि , गर्भवती होने के तरीको के बारे में बिस्तार पूर्वक जाने ।




गर्भधारण से जुड़े लेख
गर्भधारण करने के लिए बेस्ट सेक्स पोजीशन
अनचाहे गर्भ से बचने के लिए सेक्स पोजीशन
अनचाहे प्रेगनेंसी, गर्भपात के लिए घरेलू नुस्खे
लड़के और लडकियां हस्थमैथुन कैसे और कब करते है
18+ गर्भावस्था के शुरुआती लक्षण व संकेत
11+ घरेलू प्रेगनेंसी टेस्ट के तरीके
गर्भावस्था के दौरान यौन संबंध बनाना सुरक्षित हैं या नहीं
गर्भावस्था में भ्रूण किस प्रकार विकसित होता है
लड़कियों में कब और कैसे शुरू होता है पीरियड
प्रेगनेंसी के दौरान क्या खाना चाहिए
गर्भधारण के दौरान सावधानियॉ

Pregnancy Tips in Hindi | Pregnancy से जुड़ी कुछ महत्व्पूर्ण बाते

  • Pregnant होने के लिए पुरुष और स्त्री के बीच सेक्स(सम्भोग /intercourse) का होना जरुरी है. इस प्रक्रिया के दौरान पुरुष का penis (लिंग) स्त्री के vagina (योनी) में जाता है इस प्रक्रिया के दौरान उसे स्त्री के योनि में अपने sperm (शुक्राणु) का त्याग करना पड़ता है , छोड़ा गया sperm स्त्री के uterus(गर्भाशय) के मुख के पास इकठ्ठा होना जरुरी होता है ।
  • इसके आलावा एक ध्यान देने वाली बात यह है की सेक्स(सम्भोग /intercourse) की प्रक्रिया Ovaluation के समय के आस-पास का होना चाहिए. Ovaluation एक ऐसी प्रक्रिया है जिसमे महिलाओं के Ovary (अंडाशय ) से egg ( अंडे) निकलते हैं.Ovulation menstruation cycle(MC) यानि मासिक धर्म चक्र का पार्ट होता है, जो कि अमूमन MC के चौदहवें दिन, जब bleeding start होती है तब शुरू होता है.।
  • Ovaluation की date को maintain करें- Ovaluation का समय Pregnant होने के लिए सबसे उपयुक्‍त माना जाता है । यह Ovulation menstruation cycle(MC) यानि मासिक धर्म के 14 दिन बाद पड़ता है । जैसे अगर आपके मासिक-धर्म की शुरुआत 30 तारीख को होनी है तो 14 से 18 तारिख का समय Ovaluation का समय होगा।
  • sex के दौरान स्त्री को पूरी तरह उत्तेजित होना जरुरी होता है । जिससे उसके uterus(गर्भाशय) का मुँह पूरी तरह खुल सके तभी आपके छोड़ा गया sperm स्त्री के uterus(गर्भाशय) के मुख के पास इकठ्ठा हो पायेगा । इसके लिए पुरुष को फोरप्ले जैसी tricks use करनी चाहिए । फोरप्ले… यानी कि सेक्सुअल एक्ट अथवा संभोग से पहले की एक लंबी भूमिका और शायद हमारे सेक्स जीवन का सबसे अहम हिस्सा है ।
  • हालाँकि Doctors का तथ्य यह भी है की बच्चा पैदा करने के लिए महिलाओं में सेक्स के दौरान orgasm होना अनिवार्य नहीं है. दरअसल Fallopian tube जो कि अंडे को ovary से uterus तक ले जाता है , sperm को अपने अन्दर खींच लेता है और उसे egg से मिला देता है .

सेक्स समस्या से जुड़े समाधान जानने के लिए देखे

loading…

10 tips How to get Pregnant in Hindi | Pregnancy Tips in Hindi

1. पूर्व प्रसव जाँच (pre-natal checkup)

गर्भधारण करने से पहले आपको निम्नलिखित विकारों की जांच करवा लेनी चाहिए: चाहे आपको इससे पहले प्रजनन क्षमता की बाधाओं का सामना करना पड़ा हो या न हो ,फिर भी एक बुनियादी पूर्व गर्भधारण जांच कराना एक जिम्मवार माँ बाप बनने की उचित प्रक्रिया है ।

☛ पुरुषों को स्खलन के दौरान उत्सर्जित शुक्राणु की गुणवत्ता और संख्या की जांच करने के लिए एक वीर्य विश्लेषण करवाना चाहिए। अतिरिक्त पुरुष प्रजनन क्षमता परीक्षण में , हार्मोन के स्तर की जाँच के लिए रक्त परीक्षण करवाना और स्खलन प्रक्रिया या शुक्राणु वाहिनी बाधा पर नजर रखने कि लिए अल्ट्रासाउंड करवाना, ये सब शामिल हैं ।

☛ महिलाओं के प्रजनन क्षमता परिक्षण में हार्मोन परीक्षण शामिल हैं जो की थायराइड, पीयूष की जांच और डिंबोत्सर्जन वा मासिक धर्म चक्र के दौरान दूसरी समय पर हार्मोन के स्तर की जांच करते हैं| गर्भाशय, एंडोमेट्रियल अस्तर, और फैलोपियन ट्यूब में जख्म, रुकावट, या बीमारियों का मूल्यांकन या जांच करने के लिए स्टेरोसाल्पिंगोग्राफी, लेप्रोस्कोपी और श्रोणि अल्ट्रासाउंड ज़्यादा अच्छे तरीके हैं । डिम्बग्रंथि रिजर्व परीक्षण वा विरासत में मिले बांझपन की समस्याओं के लिए आनुवंशिक परीक्षण भी करवाये जा सकता है ।

☛ मधुमेह: जिसे आम बोल चल की भाषा में Diabetes के नाम से जानते है । गर्भधारण से पहले Diabetes Test अवश्य करा ले तभी आप इस रोग के साथ जुड़े जन्म दोष से बचने में सक्षम हो पाएंगे ।

Diabetes Tips in Hindi | Madhumeh, मधुमेह, डायबिटीज़

☛ थायराइड रोग: यदि गर्भधारण से पहले इस रोग का निदान हो जाय और यह प्रतिबंधित हो जाए, तो गर्भधारण के लिए यह चिंताजनक नहीं है ।

☛ पॉलीसिस्टिक डिम्बग्रंथि सिंड्रोम (PCOS), जो डिंबोत्सर्जन में बाधा बन सकता है ।

☛ एंडोमेट्रीओसिस (endometriosis), जो की आम तौर पर प्रजनन क्षमता को बाधित कर सकता है ।

☛ सही विशेषज्ञ ढूंढें | किसी विशेष प्रजनन क्षमता विशेषज्ञ या क्लीनिक के बारे में सलाहें लें ।

2. Avoid Pregnancy Precaution | गर्भ निरोधकों का प्रयोग बंद कर दे

अनियोजित गर्भधारण से बचने के लिए प्रयोग में लाए जाने वाली गर्भ निरोधक जैसे गर्भनिरोधक गोलियां, हार्मोन इंजेक्शन, नुवा-रिंग, IUD, कंडोम, गर्भाशय ग्रीवा टोपियां, डायफ्राम या स्पंज का अगर आप प्रयोग कर रहे है तो उसे तात्कालिक रूप से बंद कर दे ।

3. Caring Ovulation Period | डिंबोत्सर्जन अवधि का ध्यान रखे

औसतन, अधिकतर महिलाओं में माहवारी शुरू होने के 14 दिन बाद ही डिंबोत्सर्जन की शूरवात हो जाती है इसको जानने के लिए हम एक तरीका आजमा सकते है जो की बहुत हद तक आपके लिए कारगर साबित हो सकता है । Vagina से निकलने वाले चिपचिपे तरल को अपने ऊँगली पर लीजिये और उसकी elasticity check कीजिये, यदि इसमें कुछ देर तक लचीलापन बना रहे तो सम्भवतः ovulation हुआ है और अब आप गर्भधारण के लिए प्रयास कर सकते है ।

4. Lubricant को avoid करे

अधिकतर लोग (सम्भोग /intercourse) को मजेदार बनाने के लिए lubricate का प्रयोग करते है । वैसे किसी artificial lubricant का प्रयोग करने की आवश्यकता ही नहीं है, क्योंकि orgasm के दौरान शरीर खुद ही पर्याप्त मात्रा में liquid produce करता है जो sperm और ova दोनों के लिए healthy होता है । lubricate में प्रयोग होने वाले कुछ ज़ेल्स, तरल पदार्थ sperms को महिलाओं की reproductive tract में बाधा पंहुचा सकती है . इसलिए इनका प्रयोग अपने डाक्टर से पूछ कर ही करें ।

5. Best Position to Get Pregnant Fast | गर्भधारण में सहायक Sex Positions

हम सभी जानते है की सम्भोग प्रक्रिया गर्भधारण करने के लिए सबसे अहम प्रक्रिया है । लेकिन साथ ही साथ कामसूत्र की किताबो में कुछ खास सम्भोग आसन बताये गए है जिसको उपयोग में लाकर गर्भधारण को आसान बनाया जा सकता है । जैसे की पुरुष, स्त्री के ऊपर रहे, इस Position में Sex करना Pregnant होने के लिए उपयुक्त माना गया है, ऐशे कुछ विशेष सेक्स आसनो के बारे में जानने के लिए हमारे इस लेख को पढ़े ।

गर्भधारण में सहायक Sex Positions

6. उत्तेजकों और अवसादों से बचें | Avoid Intoxication

नशीले पदार्थ – जैसे सिगरेट, शराब, कैफीन और दुष्कर दवाएं का सेवन पुरुष -स्त्री , दोनों के hormones को नुकशान पंहुचा सकता है और आपकी प्रजनन क्षमता को बुरी तरह प्रभावित कर सकता है.और बच्चों में भी जन्मजात विसंगतियां हो सकती हैं.

7. अनुचित दवाओं का प्रयोग कम से कम करे

आधुनिक जीवनशैली ने हमारे sexual life को भी काफी प्रभवित किया है । Sexual dissatisfaction के कारण कई couples उत्तेजक दवाओं का प्रयोग शुरू कर देते है जो की आपकी fertility पर बुरा प्रभाव डाल सकता हैं.कई चीजें ovulation को रोक सकती हैं, पुरुषो में शीघ्रपतन, नामर्दी जैसी समस्याए भी सम्भव है , इसलिए दवाओं का उपयोग कम से कम करें. बेहतर होगा कि आप किसी भी दवा को लेने या छोड़ने से पहले डॉक्टर से सलाह अवश्य लें ।

Banned Drugs list in India in 2016 | प्रतिबंधित दवाओं की सूची

8. Healthy Life Style | स्वस्थ्य- जीवनशैली अपनाए

एक स्वस्थ्य- जीवनशैली हमारे जीवन का काफी अहम हिस्सा है । चाहे वो पुरुष और महिला हो होने वाले बच्चा हो , हम अपने दिनचर्या में छोटे मोटे बदलाव लेकर स्वस्थ जीवनशैली की आदत बना सकते है । जैसे समय पर सोना-उठना , खान-पान जैसे प्रजनन क्षमता में वृद्धि करने वाले खाद्य पदार्थों का सेवन करें । संतुलित और प्रोटीन-वसायुक्त आहार का सेवन करे । पर्याप्त भोजन और फल की मात्रा रखें । रोजाना व्यायाम, योगा करे । ऐसे दिनचर्या का पालन करने से पुरुष-स्त्री दोनों की fertility rate बढती है ।

आजीवन रहे निरोग बस अपनाये यह घरेलु नुस्खे

9. Stress-free (तनाव-मुक्त) रहे

अधिकतर लोगो से सुना होगा चिंता चिता के सामान होती है इसलिए कोशिस करे की हमेशा तनाव मुक्त रहे । थोड़ा सब्र करें कुछ लोगों के गर्भ ठहरने में कुछ समय लगता है, अत्यधिक तनाव reproductive function में बाधा डाल सकती है । तनाव से कामोतेजना भी प्रभावित हो सकती है , और extreme conditions में स्त्रियों में menstruation कि प्रक्रिया भी रुक सकती है. इसलिए तनाव मुक्त रहने के लिए आप regularly breathing- exercises और relaxation techniques का प्रयोग करे ।

10 Best Hindi tips to get pregnant fast

  • पुरुष और स्त्री अपने बीच अच्छी bonding रखे क्यूंकि पति-पत्नी के बीच प्यार न हो तो भी गर्भ ठहरने में दिक्कत आती है. क्योंकि इस स्थिति में सेक्स तो होता है, लेकिन शरीर की अनिक्षा गर्भ ठहरने में बाधक बन जाती है ।बांझपन को अपने रिश्ते में तनाव पैदा न करने दें | गर्भ धारण करने का दबाव, साथ ही में आक्रामक और भावनात्मक रूप से तनावपूर्ण प्रजनन उपचार,वास्तव में यौन शिथिलता ला सकते हैं और गर्भ धारण करने में कठिनाई पैदा कर सकते हैं | सकारात्मकता और अवसर पर जितना संभव हो उतना ध्यान केंद्रित करें
  • अपने Health and Fitness के साथ – साथ अपने Diet पर ध्यान दे , फल, सब्जियाँ, दाल, साग इत्यादि का खाने में ज्यादा प्रयोग करें. प्रोटीन और विटामिन युक्त भोजन करें.। पुरुषों को यह सुनिश्चित करना चाहिए की वे पर्याप्त मात्र में वे सेलेनियम ग्रहण करें
  • Ovaluation Period शुरू होने वाले दिन से चौथी रात से 16वीं रात तक में Sex करना Pregnant होने में सहायक होता है।
  • सेक्स करने के बाद पुरुष को चाहिए की वह अपने Penis(लिंग) को Vagina(योनि) से खुद बाहर न निकाले ।
  • स्त्री को सेक्स करने के उपरान्त 15-20 मिनट तक पीठ के बल लेटे रहना चाहिए. योनी को सेक्स के तुरंत बाद साफ न करके 5-6 घंटे के बाद साफ करना चाहिए ।
  • पुरुष वर्ग को चाहिए की वो अपने लिंग और अंडकोष को गर्म पानी से न धोएँ, Laptop को जांघ में रखकर काम न करें इससे हमारे गुपतांग पे बुरा असर पड़ता है ।
  • 2 दिन के बीच में शारीरिक सम्बन्ध बनाएँ, इससे शुक्राणुओं की Quality बढ़ जाती है
  • बाथटब में गर्म पानी से बाथ न लें. लिंग का गर्म पानी से सम्पर्क शुक्राणुओं के लिए अच्छा नहीं होता है.
  • लिंग या योनी के बालों को Remove न करें, ये शुक्राणुओं को जीवित रखने में मददगार होते हैं. बस इनकी नियमित सफाई करते रहें ।
  • नियमित व्यायाम करें और शरीर को Active रखें.

How to get pregnant in hindi instrunctions

[*]चेतावनी

☛ मोटापा भी गर्भधारण की संभावना को कम कर सकती है वो पुरुष और स्त्री दोनों में से कोई हो सकता है |
वज़न कम करने के तरीकेे

☛ गर्भधारण के लिए अत्यधिक प्रयास करना, खासकर सख्ती से एक शेड्यूल के पालन करने से तनाव पैदा हो सकता है और आपके वा आपके साथी के बीच शारीरिक और भावनात्मक अंतरंगता में कमी आ सकती है |

☛ यदि पूरी तरह से आपका मासिक धर्म बंद हो गया है या किसी शल्य-चिकित्सा द्वारा आपका अंडाशय निकाल दिया गया है या आपकी फैलोपियन ट्यूब बाँध दी गयी है तो आप गर्भधारण करने में असमर्थ हैं |

☛ गर्म स्नान, भंवर, तंग पुष्ट कपड़े, व्यापक साइकिल चलाना, और श्रोणि क्षेत्र में एक लैपटॉप को ज़्यादा समय तक रखने से एक आदमी के शुक्राणुओं की संख्या में कमी आ सकती है । इसके लिए आपको चाहिए की आप योग और व्यायाम नियमित रूप से करे |

☛ माता-पिता बनना एक बड़ा फैसला है और इसे हल्के में नहीं लिया जाना चाहिए | यह सुनिश्चित कर लें की आप और आपके साथी मानसिक रूप से एक बच्चे के लिए तैयार हैं|

इन उपायो के साथ – साथ योग के कुछ आसन भी Pregnancyके लिए Useful साबित हो सकता है ।

1. यसतिकाआसन – मासपेशियों की स्‍ट्रेचिंग सबसे पहले जमीन पर लेट जाएं और दोनों पैरो को सीधा फैला लें। अपने दोनों हाथों को एक साथ सिर के ऊपर की ओर सीधे फैलाएं। उसके बाद अपनी बॉडी को स्‍ट्रैच करें और सांस को अंदर लें। इस क्रिया को तकरीबन 6 मिनट तक के लिये होल्‍ड करें और धीरे से नार्मल हो जाएं।

2 . उष्ट्रासन – यह रीढ़ की हड्डी को मजबूत करता है इस आसन को करने के लिए जमीन पर दरी बिछाकर घुटनों के बल खड़े हो जाएं इसके बाद दोनों घुटनो को मिलाकर तथा एड़ी व पंजों को मिलाकर रखें। अब सांस अंदर खींचते हुए धीरे-धीरे शरीर को पीछे की ओर झुकाकर दोनो हाथों से दोनो एड़ियों को पकड़ने की कोशिश करें। इस स्थिति में ठोड़ी ऊपर की ओर करके रखें व गर्दन को सीधा रखें और दोनो हाथों को भी बिल्कुल सीधा रखें। सामान्य रूप से सांस लेते हुए इस स्थिति में 30 सैकेंड से 1 मिनट तक रहें और फिर धीरे-धीरे सामान्य स्थिति में आ जाएं। इस आसन को करने से शरीर में खून का प्रवाह आपके सिर में होता है और एनर्जी का लेवल बढता है। साथ ही इससे आपकी रीढ़ की हड्डी में मजबूती आएगी।

3. सूप्‍ता वध्रआसन – इस आसन को करने के लिये पीठ के बल पर लेट जाएं, पैरों को फैला लें। उसके बाद अपने दोनों घुटनों को मोंड़ कर मिला लें। फिर अपने कमर के ऊपर वाले भाग को घुटनों से मिलाएं और नमस्‍ते जैसा पोज बनाएं। इस पोज को 6 सेकेंड के लिये ऐसे ही रहने दें। इस पोज को करने से पेट का निचला हिस्‍सा लचीला बनता है, जिससे बच्‍चे को जन्‍म देना बहुत आसान हो जाता है। इसके आलावा यह रीढ की हड्डी को भी मजबूती देता है, जिससे पीठ दर्द नहीं होती।

4. Kapalbhati प्राणायाम (लयबद्ध तेजी से श्वास) – इसमें केवल अपनी सांसो को अंदर लें और बाहर छोड़े। 5. पश्चिमोत्तानासन – पश्चिमोत्तानासन अंडाशय और गर्भाशय को उत्तेजित करता है।

योग से जुड़े अन्य लेख

योग क्या है और इसको करने के नियम
योग से होने वाले फायदे

Friends, वैसे तो यहाँ दी गयी सभी जानकारियाँ विभिन्न websites के अध्यन के उपरान्त ही आप लोगो के सामने प्रकशित है । जहाँ Pregnancy के expert doctors ने गर्भावास्ता से related अपना सुझाव दे रखा है । फिर भी आप बताए गए किसी भी नुस्खे को व्यक्तिगत रूप से अमल करने से पहले अपने doctor से concern कर लें यह सुरक्षा की दृश्टि से उपयुकत होगा ।

Request :- Please Like and Share This Article

शीघ्रपतन से जुड़े लेख

शीघ्रपतन क्या है
शीघ्रपतन के कारण
शीघ्रपतन होने के लक्षण व संकेत
शीघ्रपतन के 12 अचूक इलाजै
30 से भी ज्यादा शीघ्रपतन के घरेलू इलाज

संबंधित लेख - Related Post
loading...

57 comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *