Emergency Contraceptive Pills | आपातकालीन गर्भनिरोधक गोलियाँ


Emergency Contraceptive Pills in Hindi, आपातकालीन गर्भनिरोधक गोली, ऐशी दवाएं है जिन्हें महिलाएँ असुरक्षित सेक्स के बाद, गर्भ ठहरने की आशंका होने पर,अनियोजित गर्भावस्था और अवांछित गर्भावस्था से बचने के लिये ले सकती हैं। ये दवा किसी भी दुकान पर आसानी से उपलब्ध होती हैं, यानि आप बिना डॉक्टर की परामर्श अथवा पर्ची के भी इन्हें खरीद सकते हैं। इन गोलियों के सेवन के बीच के अंतराल की कोई निर्धारित सीमा नहीं है। लेकिन इनका प्रभाव कम समय के लिए होता है इसीलिए इसका प्रयोग सामान्य रूप से नहीं, बल्कि आपातकालीन स्थिति में ही करना चाहिए। इन गोलियों में एस्ट्रोजन और प्रोजेस्टोन होते हैं जो कि शरीर के प्राकृतिक हार्मोन की तरह काम करते हैं। ये अंडाशय को अंडा पैदा करने से रोकती हैं। यदि सही तरह डॉक्टर से सलाह करके ये गोलियां ली जाएँ तो ये गर्भ निरोध करने का सबसे अच्छा उपाय है क्यों कि इसमें प्रेग्नेंट होने का खतरा सिर्फ 1 प्रतिशत ही होता है।

अनवांटेड 72 इस्तेमाल के तरीके, फायदे , नुकसान और सावधानियाँ
अनचाहे गर्भ से बचने के लिए सेक्स पोजीशन
अनचाहे प्रेगनेंसी, गर्भपात के लिए घरेलू नुस्खे




Emergency Contraceptive Pills usages, Benefits and Side Effects in Hindi

आपातकालीन गर्भनिरोधक गोलियाँ दो प्रकार की होती हैं, हालांकि वर्तमान में भारत में केवल एक ही उपलब्ध हैं। उपलब्ध ‘प्रोजेस्टोजन ओनली पिल’ (हार्मोन लेवोनॉरगेस्ट्रेल का प्रयोग करके) जिसे सामान्यतया आई-पिल या अन्वॉंटेड-72 कहते हैं। आपातकालीन गर्भनिरोधक का दूसरा रूप कॉपर आई यू डी (copper IUD) होता है हालांकि आपको इसे डाक्टर से लगवाना पड़ता है, जो की असुरक्षित सेक्स के 72 घण्टे के भीतर ही जरुरी है।किसी भी चीज के उपयोग से पहले उसके लाभ-हानि की जानकारी होना बहुत ही आवश्यक है इसलिए हम आपको आपातकालीन गर्भनिरोधक से जुड़े फायदे तथा नुकसान के बारे में बताने जा रहे हैं

यह भी देखें

loading…

Emergency Contraceptive Pills Usages in Hindi

आपातकालीन गर्भनिरोधक गोलियो के इस्तेमाल के तरीके और फायदे हैं
i) संभोग करते समय यदि कंडोम फट जाए
ii) यदि लगातार तीन दिन तक गर्भनिरोधक गोलियां लेना भूल जाएं
iii) यदि संभोग के समय कंडोम, कॉपर टी या अन्य गर्भनिरोधक का इस्तेमाल न किया जाए
iv) असुरक्षित संभोग किया जाए
v) किसी महीने में गर्भधारण के संभावित दिनों की गणना में गलती हुई हो
vi) यदि गर्भनिरोधक सूई लगवाने में 14 दिन से ज्यादा की देरी हो जाए
vii) जबरदस्ती असुरक्षित शारीरिक संबंध बनाने या बलात्कार के बाद
viii) ये गोलियां स्तनपान कराने वाली माताओं द्वारा भी ली जा सकती हैं। ये गोलियां स्तन के दूध की गुणवत्ता या मात्रा को प्रभावित नहीं करती हैं और इनका शिशु के विकास पर कोई प्रतिकूल प्रभाव नहीं पड़ता है।




Emergency Contraceptive Pills Side effects in Hindi

i)स्तन शिथिलता
ii) थकान
iii) सिरदर्द
iv) पेट दर्द, मिचली, उल्टी
v) चक्कर आना
vi) गोली के प्रभाव से महिला का माहवारी के दौरान रक्तस्त्राव हल्का या ज़्यादा हो सकता हैI माहवारी चक्र में जल्दी या विलम्ब से हो सकना भी संभव है
vii) यह यौनसंचारित रोगों से बचाव नहीं करती
viii) यह मौजूदा गर्भावस्था को समाप्त करने में कारगर नहीं है
ix) अस्थानिक गर्भावस्था Ectopic pregnancy के जोखिम इसे लेने के बाद बढ़ सकती है
x) आपातकालीन गर्भनिरोधक गोलियो को नियमित गर्भनिरोधक के रूप में प्रयोग नहीं करना चाहिए
xi) हार्मोनल असंतुलन से स्वास्थ्य पर प्रतिकूल प्रभाव डाल सकती है जैसे अधिक वजन, यौन रुचि की कमी, त्वचा की एलर्जी, अनियमित मासिक धर्म जिससे बांझपन जैसी समस्या भी हो सकती है।
xii) 25-45 आयु वाली महिलाओं के लिए ही उपयुक्त है। यह किशोर अवस्था की लड़कियों के लिए बिल्कुल उपयुक्त नहीं है क्योंकि इसका उपयोग प्रजनन प्रणाली के विकास के लिए काफी हानिकारक हो सकता है।

आपातकालीन गर्भनिरोधक गोलियो का सेवन करने वाले बातों का ध्यान रखें

i) ध्यान रखें कि इसका उपयोग एक नियमित गर्भनिरोधक के रूप में ना करें और केवल आपातकालीन स्थिति में ही करें।
ii) इसे पानी के साथ खाने के बाद लें ताकि उल्टी ना हो। यदि इस गोली को लेने के 2-3 घंटे के भीतर उल्टी हो, एक और गोली लें।
iii) अगर आप किसी बीमारी से पीड़ित हैं और इसके लिए लंबे समय से कोई दवा ले रही हैं, तो भी इस गोली को लेने से पहले डॉक्टर से परामर्श अवश्य करें।
iv) यह एक महीने में दो बार से अधिक नहीं ली जानी चाहिए।
v) ये गोलियां यौन रोग (Sexually transmitted disease) जैसे एचआईवी/एड्स, गोनोरिया, हरपीज़ इत्यादि से एक महिला की सुरक्षा नहीं करती हैं।
vi) आपातकालीन गर्भनिरोधक गोलियो में लेवोनोरजैसट्रल होता है। यदि किसी औरत को इस से एलर्जी है तो डॉक्टर की सलाह के बिना इन गोलीयो को ना लें।

गोली केवल तभी प्रभावी होती है अगर असुरक्षित यौन संबंध के बाद ली जाए। यदि आप गोली लेने के बाद यौन संबंध बनाते हैं तो यह काम नहीं करेगी। इसके लिए, आपको गर्भनिरोधक गोलियां लेने की जरूरत पड़ेगी।

गर्भधारण से जुड़े लेख
संतान और गर्भधारण प्राप्ति के खास उपाय एवं टोटके
गर्भधारण करने के लिए बेस्ट सेक्स पोजीशन
लड़के और लडकियां हस्थमैथुन कैसे और कब करते है
18+ गर्भावस्था के शुरुआती लक्षण व संकेत
11+ घरेलू प्रेगनेंसी टेस्ट के तरीके
गर्भावस्था के दौरान यौन संबंध बनाना सुरक्षित हैं या नहीं
प्रेगनेंसी के दौरान क्या खाना चाहिए
गर्भधारण के दौरान सावधानियॉ

One comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *